Uncategorised

अपना रेल टूर आसान कीजिए, सर्क्युलर जर्नी टिकट लेकर।

राजिन्दर को अलग अलग जगह घूमने जाने का बहोत शौक था। बच्चों की एक्ज़ाम होते ही, कोई न कोई प्लान बन जाता था। टिकट बनाना, होटल की बुकिंग करना सब आजकल इंटरनेट पर हो जाता है। इस बार उसकी इच्छा थी, किसी एक जगह न जाते हुए, 8 -10 जगह का लंबा टूर बनाना, और इसी लिए वो रेलवे के जानकार, सुखीरामजी के पास आया था।

“सुखी पाजी, क्या वो पहले ब्रेक जर्नी करते करते यात्रा करने वाली रेलवे की टिकट अब भी बनती है?”

हाँ काके, उसे सरकुलर जर्नी टिकट कहते है, बीचमे GST की वजह से बन्द कर दी गई थी, जो 1 सितंबर 2018 से फिर से, सभी क्लास के लिए शुरू हो गई है। लेकिन अब सभी श्रेणी के टिकटोंको पूरे किराए पर 5% GST लगेगी।

“पाजी, मुझे यह CJT याने सर्क्युलर जर्नी टिकट का फण्डा पूरा समझाइये न।”

देखो, पहले इस CJT के फायदे बताता हूँ, जिस किसीको अलग अलग स्टेशनोंपर यात्रा करनी है, उसके लिए तो CJT बेस्ट ऑप्शन है। एकही बार मे पूरा स्टार्ट टू एन्ड याने आने जाने का पूरा टिकट बना लो। हर पॉइंट से पॉइंट का टिकट लेने का झंझटों से मुक्ति पाओ। इसका किराया निकलने का तरीका इस तरह होता है, पूरी टोटल यात्रा का दो हिस्सा करके, एक हिस्से को जो किराया होगा उसके डबल किराया चार्ज होता है। उदाहरण के तौर पे, आपकी कुल यात्रा 5000km की है तो 2500km जाने की यात्रा और 2500km आने की यात्रा, ऐसा किराया चार्ज होगा। याने किराए में टेलिस्कोपिक रेट का फायदा भी मिल जाता है। रेलवे में जितना लम्बी दूरी का टिकट उतना पर किलोमीटर रेट कम होते जाता है, उसे टेलिस्कोपिक रेट कहते है।

यह टिकट कमसे कम 1,500 km से लेकर ज्यादा से ज्यादा 10,000 km तक का बनता है। टोटल यात्रा में ज्यादा से ज्यादा 8 ब्रेक जर्नी याने रुकने के स्टेशन मिल पाएंगे। गाड़ी बदलने के लिए यदि किसी जंक्शन स्टेशनपर रुकना पड़ा, जो 24 घंटे से कम समय हो तो उसे ब्रेक जर्नी नही माना जाएगा।

यह CJT में स्टार्टिंग स्टेशन और एन्ड स्टेशन एकही रहना जरूरी है।

टिकट बनाने के किए DCM विभागिय वाणिज्य अधिकारी या स्टेशन मैनेजर से सम्पर्क करना होगा, अपना यात्रा का सम्पूर्ण कार्यक्रम लिखित रूप में उनके पास सबमिट करने के बाद वे आपको एक फॉरमेट में टिकट डिटेल्स अप्रूव्ह कर के देंगे जिसे लेकर आपको रिजर्वेशन ऑफिस में जाकर टिकट बनवाना होगा।

टिकट की यात्रा अवधी तय करने के लिए, आपके टिकट के कुल अंतर को 125 km/day से 135km/day से गिना जाएगा, याने 5000km की टिकट के लिए कुल 38 से 40 दिन की यात्रा अवधि मिलेगी। याने इतनी अवधि में आपको अपनी यात्रा पूरी करनी है। जो भी ब्रेक आप यात्रा के दौरान लोगे उसमे दिनोंके बन्धन नहीं रहेंगे, याने कोई स्टेशनपर आप 4 दिन, कोई स्टेशनपर 2 दिन अपने प्रोग्राम के हिसाबसे रुक सकते हो।

इसमें एक विशेषता और है, यदि आपका टिकट 1000km से ज्यादा अंतर का है और आपके साथ वरिष्ठ नागरिक है तो उन्हें वरिष्ठ नागरिकों को मिलनेवाली रियायत भी मिलेगी।

क्यों राजिंदर पापे, है की नहीं बल्ले बल्ले। तो आगेसे कोई टूर, तीर्थयात्रा करना है तो CJT ले लेना।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s