Uncategorised

जनसम्पर्क विभाग, पूर्वोत्तर रेलवे,वाराणसी प्रेस विज्ञप्ति

वाराणसी 22 अगस्त, 2019:

पूर्वोत्तर रेलवे के वाराणसी मंडल के वाराणसी-इलाहाबाद सिटी रेल खण्ड पर हरदत्तपुर-कछवा रोड स्टेशनों के मध्य दोहरीकरण कार्य के परिप्रेक्ष्य में प्री-नान इंटरलाकिंग/इंटरलाकिंग कार्य होने के कारण 24 अगस्त से 06 सितम्बर, 2019 तक विभिन्न गाड़ियों निरस्तीकरण, मार्ग परिवर्तन, शार्ट टर्मिनेशन एवं नियंत्रित कर चलाया जायेगा।

निरस्तीेकरण-

55126/55129 इलाहाबाद सिटी-मंडुवाडीह-इलाहाबाद सिटी सवारी 24 अगस्त से 06 सितम्बर, 2019 तक निरस्त रहेगी।

55127/55128 मंडुवाडीह-इलाहाबाद सिटी-मंडुवाडीह सवारी 24 अगस्त से 06 सितम्बर, 2019 तक निरस्त रहेगी।

31 अगस्त, 2019 को मंडुवाडीह से चलने वाली 15117 मंडुवाडीह-जबलपुर एक्सप्रेस निरस्त रहेगी।
– 01 सितम्बर, 2019 को जबलपुर से चलने वाली 15118 जबलपुर-मंडुवाडीह एक्सप्रेस निरस्त रहेगी।

मार्ग परिवर्तन-

31 अगस्त, 2019 को लोकमान्य तिलक टर्मिनस से चलने वाली 18610 लोकमान्य तिलक टर्मिनस-रांची एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग इलाहाबाद छिवकी-पंडित दीनदयाल उपाध्याय जं. के रास्ते चलाई जायेगी।

02 सितम्बर, 2019 को पुणे से चलने वाली 22131 पुणे-मंडुवाडीह एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग इलाहाबाद छिवकी-ब्लाॅक हट के-वाराणसी के रास्ते चलाई जायेगी।

31 अगस्त, 2019 को एर्नाकुलम से चलने वाली 16359 एर्नाकुलम-पटना एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग इलाहाबाद छिवकी-पंडित दीनदयाल उपाध्याय जं. के रास्ते चलाई जायेगी।

03 सितम्बर, 2019 को पटना से चलने वाली 16360 पटना-एर्नाकुलम एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग पंडित दीनदयाल उपाध्याय जं.-इलाहाबाद छिवकी के रास्ते चलाई जायेगी।

04 सितम्बर, 2019 को मंडुवाडीह से चलने वाली 22132 मंडुवाडीह-पुणे एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग वाराणसी-ब्लाॅक हट के-इलाहाबाद छिवकी के रास्ते चलाई जायेगी।

31 अगस्त एवं 03 सितम्बर, 2019 को उधना से चलने वाली 19063 उधना-दानापुर एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग इलाहाबाद छिवकी-पंडित दीनदयाल उपाध्याय जं. के रास्ते चलाई जायेगी।

01 एवं 04 सितम्बर, 2019 को दानापुर से चलने वाली 19064 दानापुर-उधना एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग पंडित दीनदयाल उपाध्याय जं. -इलाहाबाद छिवकी के रास्ते चलाई जायेगी।

28 अगस्त एवं 04 सितम्बर, 2019 को रांची से चलने वाली 18609 रांची-लोकमान्य तिलक टर्मिनस एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग पंडित दीनदयाल उपाध्याय जं. -इलाहाबाद छिवकी के रास्ते चलाई जायेगी।

30 एवं 31 अगस्त तथा 02 सितम्बर, 2019 को नई दिल्ली से चलने वाली 12562 नई दिल्ली-दरभंगा एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग इलाहाबाद-जंघई-वाराणसी के रास्ते चलाई जायेगी।

29 अगस्त, 2019 को श्री छत्रपति साहू महराज टर्मिनस से चलने वाली 11045 श्री छत्रपति साहू महराज टर्मिनस-धनबाद एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग इलाहाबाद छिवकी- पंडित दीनदयाल उपाध्याय जं. के रास्ते चलाई जायेगी।

01 सितम्बर, 2019 को मंडुवाडीह से चलने वाली 15120 मंडुवाडीह-रामेश्वरम् एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग वाराणसी-इलाहाबाद छिवकी के रास्ते चलाई जायेगी।

01 सितम्बर, 2019 को अहमदाबाद से चलने वाली 19421 अहमदाबाद-पटना एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग इलाहाबाद छिवकी-पंडित दीनदयालय उपाध्याय के रास्ते चलाई जायेगी।

02 सितम्बर, 2019 को धनबाद से चलने वाली 11046 धनबाद-श्री छत्रपति साहू महराज टर्मिनस एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग पंडित दीनदयालय उपाध्याय जं. -इलाहाबाद छिवकी के रास्ते चलाई जायेगी।

01 सितम्बर, 2019 को बलिया से चलने वाली 22427 बलिया-आनन्द विहार टर्मिनस एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग औंड़िहार-जौनपुर- जंघई-इलाहाबाद के रास्ते चलाई जायेगी।

28 अगस्त, 2019 को रामेष्वरम् से चलने वाली 15119 रामेश्वरम-मंडुवाडीह एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग इलाहाबाद छिवकी-वाराणसी के रास्ते चलाई जायेगी।

02 सितम्बर, 2019 को लोकमान्य तिलक टर्मिनस से चलने वाली 11061 लोकमान्य तिलक टर्मिनस-दरभंगा एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग इलाहाबाद-जंघई-वाराणसी के रास्ते चलाई जायेगी।

28, 29, 30 एवं 31 अगस्त तथा 01, 02, 03, 04, 05 सितम्बर, 2019 को सिकन्दराबाद से चलने वाली 12791 सिकन्दराबाद-दानापुर एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग इलाहाबाद छिवकी-पंडित दीनदयाल उपाध्याय जं. के रास्ते चलाई जायेगी।

29, 30 एवं 31 अगस्त तथा 01, 02, 03, 04, 05, 06 सितम्बर, 2019 को दानापुर से चलने वाली 12792 दानापुर-सिकन्दराबाद एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग पंडित दीनदयाल उपाध्याय जं. -इलाहाबाद छिवकी के रास्ते चलाई जायेगी।

28 अगस्त से 05 सितम्बर, 2019 तक आनन्द विहार टर्मिनस से चलने वाली 14006 आनन्द विहार टर्मिनस-सीतामढ़ी एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग इलाहाबाद-जंघई-जौनपुर -औंड़िहार के रास्ते चलाई जायेगी।

29 अगस्त से 06 सितम्बर, 2019 तक सीतामढ़ी से चलने वाली 14005 सीतामढ़ी-आनन्द विहार टर्मिनस एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग औंड़िहार- जौनपुर-जंघई-इलाहाबाद के रास्ते चलाई जायेगी।

31 अगस्त, 2019 को आनन्द विहार टर्मिनस से चलने वाली 22428 आनन्द विहार टर्मिनस-बलिया एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग इलाहाबाद-जंघई-जौनपुर-औंड़िहार के रास्ते चलाई जायेगी।

24 अगस्त से 06 सितम्बर, 2019 तक नई दिल्ली से चलने वाली 22436/22435 नई दिल्ली-वाराणसी-नई दिल्ली वन्दे भारत एक्सप्रेस अपने निर्धारित मार्ग के स्थान पर परिवर्तित मार्ग इलाहाबाद-जंघई-वाराणसी के रास्ते चलाई जायेगी।

शार्ट टर्मिनेशन-

28 अगस्त से 05 सितम्बर, 2019 तक हावड़ा से प्रस्थान करने वाली 12333 हावड़ा-इालाहाबाद सिटी एक्सप्रेस मंडुवाडीह में शार्ट टर्मिनेट होगी तथा 29 अगस्त से 06 सितम्बर, 2019 तक गाड़ी सं. 12334 इलाहाबाद सिटी-हावड़ा एक्सप्रेस मंडुवाडीह से चलाई जायेगी।

नियंत्रित कर चलाई जाने वाली गाड़ियां-

– 11061 लोकमान्य तिलक टर्मिनस-दरभंगा एक्सप्रेस 01 सितम्बर, 2019 को 50 मिनट, 02 सितम्बर, 019 को 40 मिनट, 03 एवं 04 सितम्बर, 2019 को 70-70 मिनट तथा 05 सितम्बर, 2019 को 40 मिनट नियंत्रित कर चलाई जायेगी।

Uncategorised

PRS काउंटर भी चले प्राइवेटाइजेशन की ओर

रेलवे का PRS याने पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम। इसके दो प्रकार है, एक ऑनलाईन ई टिकट, जो IRCTC के द्वारा रेलवे की वेबसाइट पर होता है और दूसरे रेलवे स्टेशन पर काउन्टर के द्वारा कागज पर छपे टिकट द्वारा होता है। रेलवे के लगभग 3400 PRS पर 13000 काउंटर्स चलाए जाते है, जिसमे कईयोंमे 2 शिफ्ट में बुकिंग का काम चलता है।

हाल ही में रेल प्रशासन ने अपने सभी PRS काउंटर्स का जिम्मा IRCTC को सौंपने का निर्णय लिया है। रेल प्रशासन की ऐसी करने की बड़ी वजह कॉस्ट कटिंग याने अपने खर्चे कम करने की क़वायद समझी जा रही है। जब 13000 काउंटर्स पर 2 शिफ्ट याने 26000 तो कर्मचारी तो पक्के हुए, साथ ही सुपरवाइजर, निरीक्षक, तकनीशियन ऐसे और भी कर्मचारी है। बुकिंग क्लर्क ECRC कैटेगरी में आते है। इतने सारे कर्मचारी को रेल प्रशासन अपने आरक्षण बुकिंग विभागसे हटाकर किसी दूसरे विभागोंमें सम्मिलित कर सकता है।

अब काउंटर टिकट का जिम्मा IRCTC की तरफ जाएगा तो कई सारे सवाल इस विभाग के कर्मचारियों और यात्रिओंके मन मे उठ रहे है। टिकट बुकिंग से हटाकर कौनसे विभाग में तबादला किया जाएगा या उनको ही IRCTC की तरफ वर्ग कर दिया जाएगा।
क्या prs टिकटोंका पैटर्न भी बदलकर ई टिकट जैसे हो जाएगा? क्या विंडो टिकट भी अब ई टिकट जैसे ही माना जाएगा? याने जिस तरह ई टिकट चार्टिंग होने के बाद भी वेटिंग लिस्ट ही रहा तो अपने आप कैंसिल हो जाता है और यात्री उस टिकट पर यात्रा नही कर पाता है। आगे सवाल यह भी है, PRS आरक्षण के साथ साथ क्या करंट टिकट बुकिंग, रेलवे पार्सल सर्विस ये सेवाएं भी इसी रास्ते जाएगी?

यही तो रेलवे का प्राइवेटाइजेशन है। हाल ही में रेल प्रशासन ने अपनी प्रमुख मार्ग की दो तेजस गाड़ियाँ IRCTC को प्रायोगिक तौर पर चलाने का जिम्मा दिया है। अब PRS सौपने जा रही है। रेलवे की कैटरिंग सेवा, रेल गाड़ियोंकी पेन्ट्री कार, रेलवे के वातानुकुलित डिब्बों की अटेंडेंट, मैकेनिक प्राइवेट होके एक अरसा हो गया। रेलवे स्टेशन मॉनिटरिंग जो फिलहाल RPF के जिम्मे है, उनकी भी काफी जिम्मेदारियोंको बाँट कर मुख्य सुरक्षा का हिस्सा छोड़, कुछ हिस्से में प्राइवेट एकइयोंको लाया जाने की चर्चा चल रही है।

अब आने वाला वक्त ही बताएगा, रेलवे किस हद तक अपना ख़ुद का प्राइवेटाइजेशन होता देखेगी और यात्रिओंके दिन किस तरह बदलेंगे।

Uncategorised

नया दौर : पटरी पर दौड़ेगी प्राइवेट गाड़ियाँ

दिन लद गए रेलवे स्टॉफ के, एकाधिकार खत्म, की अब पटरी पर चलेगी प्राइवेट गाड़ियाँ।

प्रायोगिक तौर पर तेजस एक्सप्रेस को रेलवे की वाणिज्यिक इकाई IRCTC के चलाने के लिए दिया गया है। वैसे तो करार 3 वर्षोंका है, लेकिन शुरवाती अवधि 1 वर्ष की है, जिसमे IRCTC इन गाड़ियोंके टिकट बेचने, रेलवे की इंटरनेट बुकिंग साइट का इस्तेमाल करेगी।

टाइम टेबल और शर्ते जारी
इसका समयसारिणी तो जारी कर दी गई है, लेकिन IRCTC उसे अपने हिसाब से बदल सकती है। साथ ही जो 12 डिब्बों का रेक उसे दिया जायेगा, उसकी व्यवस्थामे भी बदलाव करने का हक IRCTC को दिया गया है।

रेलवे प्रशासन फिलहाल IRCTC से 12 डिब्बों का किराया FTR के हिसाब से लेगी, साथ ही एम्प्टी हौलेज, डिटेंशन चार्जेस भी वसूलेगी।
IRCTC इन 12 डिब्बों को यात्रिओंकी मांग को देखकर 18 डिब्बों तक बढ़ा सकती है।

रेलवे स्टाफ : लोको पायलट, गार्ड, स्टेशन मास्टर, टेक्नीशियन सभी रेलवे विभाग के ही सेवाएं देंगे लेकिन ऑनबोर्ड चेकिंग स्टाफ़ IRCTC का खुद का रहेगा।

और रियायत : नाम मत लीजिए,
वरिष्ठ नागरिक, दिव्यांग, विभिन्न प्रकार की रियायतें जो रेल प्रशासन देता है, नही मिलेगी। यहां तक की रेलवे स्टाफ़ की पास, पीटीओ भी नही चलेगी।

साथ मे परिपत्रक जोड़ रहे है।